यूक्रेन में ‘शांति समझौते’ के लिए ज़ेलेंस्की को भारत पर पूरा भरोसा, पीएम मोदी से फोन पर की बात

छवि स्रोत : REUTERS
प्रधानमंत्री मोदी और यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की।

लंडन: यूक्रेन को अगर युद्ध के बीच भी किसी देश से शांति की उम्मीद है तो उसमें भारत का नाम सबसे ऊपर है। यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमीर जेलेंस्की को उम्मीद है कि यूक्रेन शांति वार्ता में भारत बड़ी भूमिका निभाएगा। जेलेंस्की ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की और रूस-यूक्रेन युद्ध के मद्देनजर स्विट्जरलैंड में होने वाले शांति समझौते पर चर्चा की। जेलेंस्की ने उम्मीद जताई कि समझौते में भारत अहम भूमिका निभाएगा।

ज़ेलेंस्की ने प्रधानमंत्री मोदी को उचित समय पर यूक्रेन आने का न्योता भी दिया। यूक्रेनी राष्ट्रपति ने एक्स पर कहा, “मैंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की और उन्हें चुनावों में जीत की बधाई दी। मैं उन्हें जल्द से जल्द सरकार बनाने और भारत के लोगों के लाभ के लिए सकारात्मक काम जारी रखने के लिए शुभकामनाएं देता हूं।” उन्होंने कहा, “हमने आगामी वैश्विक शांति समझौते पर चर्चा की। हम भारत की महत्वपूर्ण भूमिका में विश्वास करते हैं। मैं प्रधानमंत्री मोदी को उचित समय पर यूक्रेन आने का न्योता देता हूं।”

ज़ेलेंस्की ने प्रधानमंत्री मोदी को यूक्रेन बुलाया

जेलेंस्की ने बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी को यूक्रेन आने का निमंत्रण दिया और संसदीय चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले गठबंधन की लगातार तीसरी जीत पर उन्हें बधाई दी और कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत अगले सप्ताह स्विट्जरलैंड में होने वाले शांति समझौते में शामिल होगा। जेलेंस्की ने दोहराया कि दुनिया में हर कोई वैश्विक मामलों में भारत की भूमिका को जानता और पहचानता है। उन्होंने कहा, “यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम सभी सभी देशों के लिए न्यायपूर्ण शांति सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम करें। इस संबंध में, हम भारत को शांति समझौते में शामिल होते देखने के लिए भी उत्सुक हैं।” (भाषा)

यह भी पढ़ें

पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने दिल्ली आ रहे हैं इन देशों के नेता, क्या चीन और पाकिस्तान भी होंगे शामिल?



भारत-अमेरिका और कोरिया-जापान ने यूरोपीय संघ के साथ मिलकर बनाया ये नया गठबंधन, जानें क्या है उद्देश्य

नवीनतम विश्व समाचार