राज्यसभा में जया बच्चन, दीपेंद्र सिंह हुड्डा के सवाल छोड़ने पर विपक्ष का हंगामा

विपक्ष ने सोमवार (फरवरी 5, 2024) को राज्यसभा में कई सवाल न लेने को लेकर हंगामा किया। विपक्ष का आरोप है कि राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने सवाल नंबर 18 को नजरअंदाज कर दिया और 17वें सवाल के बाद सीधे सवाल नंबर 19 पर चर्चा शुरू हो गई. समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने इस पर नाखुशी जताई और कहा कि अगर आसन के अलावा कोई उनसे पूछता है. बैठो, वह नहीं बैठेगी.

प्रश्नकाल के दौरान सदन के उपसभापति हरिवंश ने सूची में सूचीबद्ध 17वां प्रश्न लिया और उसके बाद उन्होंने 19वां प्रश्न लिया. इस पर सदस्यों ने कहा कि 18वां प्रश्न छूट गया है. उपसभापति ने कहा कि 19वें प्रश्न के पूरा होने के बाद 18वें प्रश्न पर विचार किया जाएगा. 18वां सवाल एविएशन सेक्टर से जुड़ा था. सपा सदस्य जया बच्चन, कांग्रेस के दीपेंद्र सिंह हुड्डा और अन्य विपक्षी सदस्य जानना चाहते थे कि 18वां प्रश्न क्यों छोड़ दिया गया।

किस सवाल को लेकर राज्यसभा में हुआ हंगामा?
अध्यक्ष जगदीप धनखड़ ने कहा कि 19वां प्रश्न पूरा होने के बाद 18वां प्रश्न लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि कभी-कभी गलतियां हो जाती हैं. उन्होंने सदस्यों से शांत रहने की अपील की. जगदीप धनखड़ ने कहा कि ये सही है कि इस सवाल को छोड़ना नहीं चाहिए. उन्होंने इस मुद्दे पर सदस्यों द्वारा उपसभापति पर कुछ आरोप लगाने पर भी नाखुशी जाहिर की. इस मुद्दे पर जब विभिन्न सदस्यों ने हंगामा किया तो सभापति जगदीप धनखड़ ने कहा कि 18वां प्रश्न नहीं छोड़ा जायेगा. उन्होंने कहा कि कुछ तकनीकी कारणों से 18वां प्रश्न नहीं लिया जा सका.

जया बच्चन ने क्या कहा?
उन्नीसवां सवाल पूरा होने के बाद सभापति ने सपा की जया बच्चन को अपनी बात रखने का मौका दिया. जया ने कहा, ‘उपसभापति के प्रति सभी के मन में सम्मान की भावना है. अगर आसन हमें बैठने के लिए कहेगा तो हम बैठेंगे, लेकिन अगर कोई दूसरा हमें देखकर हाथ हिलाएगा और बैठने के लिए कहेगा तो हम नहीं बैठेंगे. उन्होंने कहा कि सदस्यों के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार किया जाना चाहिए. जया बच्चन ने कहा, ‘अगर आसन कहता है कि किसी समस्या के कारण प्रश्न नहीं उठाया जा सकता तो सदस्य इसे समझ जाएंगे क्योंकि वे स्कूली बच्चे नहीं हैं.’

ये भी पढ़ें:-
लोकसभा चुनाव 2024: ‘भगवान राम को मंदिर ले आए लेकिन नीरव मोदी को नहीं ला सके’, संसद में बीजेपी पर जमकर बरसे दिग्विजय सिंह