रूसी हमलों से अपने लड़ाकू विमानों को बचाने के लिए यूक्रेन करेगा ये काम, बनाया है बड़ा प्लान

छवि स्रोत : फ़ाइल एपी
यूक्रेनी वायु सेना (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कीव: यूक्रेन के एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने सोमवार को कहा कि यूक्रेन अपने पश्चिमी सहयोगियों से प्राप्त कुछ F-16 लड़ाकू विमानों को रूसी हमलों से बचाने के लिए विदेशी एयरबेसों पर रख सकता है। बेल्जियम, डेनमार्क, नीदरलैंड और नॉर्वे ने यूक्रेन को रूसी हमलों का मुकाबला करने में मदद करने के लिए 60 से अधिक अमेरिकी निर्मित F-16 लड़ाकू विमान प्रदान करने का वचन दिया है। यूक्रेनी पायलट इन विमानों को उड़ाने का प्रशिक्षण ले रहे हैं, जिनकी डिलीवरी इस साल के अंत में शुरू होने की उम्मीद है।

यूक्रेन ने किया घातक हमला

यूक्रेनी वायुसेना के विमानन प्रमुख सेरही होलुबसोव ने कहा कि यूक्रेन के बाहर एयरबेस पर एक निश्चित संख्या में विमान तैनात किए जाएंगे ताकि उन्हें यहां निशाना बनाए जाने से रोका जा सके। सेरही होलुबसोव का यह बयान ऐसे समय आया है जब यूक्रेन ने रूस पर घातक हमला किया है। यूक्रेन ने अग्रिम चौकियों से करीब 600 किलोमीटर दूर एयरबेस के पास खड़े रूसी उन्नत लड़ाकू विमानों पर हमला किया है।

पुतिन ने चेतावनी दी

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चेतावनी दी है कि अगर नाटो के सदस्य यूक्रेन में इस्तेमाल किए जाने वाले युद्धक विमानों को रखते हैं तो मॉस्को उन पर हमला करने पर विचार कर सकता है। यूक्रेन के पश्चिमी सहयोगी कीव को सैन्य सहायता बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि रूसी सैनिकों ने अमेरिकी सैन्य सहायता में लंबे समय से चल रही देरी का फायदा उठाते हुए सीमा के 1,000 किलोमीटर (620 मील) से अधिक क्षेत्र में हमले शुरू कर दिए हैं। यूक्रेन वर्तमान में अपने दूसरे सबसे बड़े शहर खार्किव के पास रूसी हमले को रोकने के लिए संघर्ष कर रहा है। (एपी)

यह भी पढ़ें:

नवाज शरीफ ने तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने पर पीएम मोदी को दी बधाई, कहा ‘आपकी सफलता…’

यूक्रेन ने रूस को दिया करारा जवाब, जानलेवा हमले में रूस का सबसे खतरनाक लड़ाकू विमान नष्ट किया गया

नवीनतम विश्व समाचार