रूस ने मॉस्को आतंकी हमले के आरोपी चार लोगों को गिरफ्तार किया, अमेरिका पर ISIS के हमले के दावे पर सवाल उठाया | मास्को आतंकी हमला: मॉस्को आतंकी हमले में रूस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया, अमेरिका से पूछे सवाल

मॉस्को आतंकी हमला: रूस ने मॉस्को में एक कॉन्सर्ट के दौरान हुए आतंकवादी हमले के सिलसिले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। समाचार एजेंसी तास के मुताबिक इन लोगों पर मॉस्को आतंकी हमले में मारे गए करीब 137 लोगों की मौत का आरोप है. इन लोगों पर मॉस्को की बासमनी कोर्ट में मुकदमा चलाया गया. गिरफ्तार किए गए संदिग्धों के नाम डेलर्डजोन मिर्जोयेव, सैदाक्रामी, शम्सीदीन फरीदुनी और मुहम्मदसोबिर फैज़ोव हैं।

मॉस्को आतंकी हमले में अधिकारियों द्वारा गिरफ्तार किए गए चार लोगों में से एक फैज़ोव ने हमले का एक वीडियो शूट किया था। समाचार एजेंसी तास के मुताबिक, सभी आरोपियों को 22 मई तक हिरासत में भेज दिया गया है.

मास्को आतंकी हमले में शामिल थे ताजिकिस्तान के नागरिक!

इससे पहले TASS संवाददाता ने बताया था कि जिन लोगों पर आतंकी हमले को अंजाम देने का आरोप लगाया गया है उनमें से एक ताजिकिस्तान का नागरिक है. सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, ये चारों पूर्व सोवियत गणराज्य ताजिकिस्तान से हैं और वीजा समाप्त होने के बाद या अस्थायी रूप से रूस में रह रहे थे।

TASS की रिपोर्ट के मुताबिक, हमले में शामिल कुल 11 लोगों को पकड़ लिया गया है, जिनमें चार संदिग्ध हमलावर भी शामिल हैं, जो यूक्रेनी सीमा की ओर भागने की कोशिश कर रहे थे. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हाल ही में कहा था कि यूक्रेन ने हमलावरों के लिए सीमा पार करने का रास्ता बना लिया है.

अमेरिकी दावे पर उठे सवाल

इस बीच रूस ने अमेरिका के दावे पर सवाल उठाए हैं. अमेरिका ने दावा किया था कि मॉस्को के क्रोकस हॉल में हुई गोलीबारी के पीछे इस्लामिक स्टेट-खुरासान (ISIS-K) का हाथ है. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जखारोवा ने एक अखबार में लेख के जरिए इस पर सवाल उठाए हैं.

रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया ज़खारोवा ने लेख में कहा कि सावधान रहें…व्हाइट हाउस से एक सवाल है, क्या आप निश्चित रूप से कह सकते हैं कि यह आईएसआईएस है? शायद आपको इस बारे में दोबारा सोचना चाहिए.

इस बीच क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जब तक जांच जारी है, रूस आईएसआईएस के दावे पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकता और अमेरिका के खुफिया विभाग से मिली जानकारी पर कोई बयान नहीं दे सकता, क्योंकि इनमें संवेदनशील जानकारी होती है.

ये भी पढ़ें:

रूस आतंकी हमला: मॉस्को के कॉन्सर्ट हॉल हमले में 133 लोगों की जान गई, 140 से ज्यादा घायल, राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन बोले- छोड़ेंगे नहीं. 10 बड़ी बातें