लू, भीषण गर्मी, बारिश, मौसम अपडेट, आईएमडी ने जताई भविष्यवाणी, मानसून पर आया बड़ा अलर्ट

मौसम अद्यतन: देशभर में भीषण गर्मी का कहर जारी है। खासकर उत्तर भारत में लोग भीषण गर्मी से परेशान हैं। मौसम विभाग के मुताबिक भारत में यह अब तक की सबसे लंबी गर्मी है। ऐसे में मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि भविष्य में और भी भीषण गर्मी का सामना करना पड़ेगा। रविवार को देश की राजधानी दिल्ली के इलाकों में फिर से भीषण गर्मी का कहर देखने को मिला। भीषण गर्मी की आशंका को देखते हुए आईएमडी ने अगले 4 दिनों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में गर्मी और बढ़ने की उम्मीद है। इसके साथ ही उत्तर भारत के कुछ हिस्से मई के मध्य से ही भीषण गर्मी की चपेट में हैं, जहां तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक हो गया है। जिसके कारण यह देश का सबसे गर्म स्थान बन गया है।

महाराष्ट्र में बारिश के चलते आईएमडी ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

इस बीच, महाराष्ट्र में मानसून की बारिश पर आईएमडी प्रमुख सुनील कांबले ने कहा कि हमने अगले 24 घंटों के लिए मुंबई, ठाणे, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, लातूर और नांदेड़ में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। ऐसे में आज मुंबई में 65 मिमी से अधिक बारिश हुई है।

अगर सावधानी नहीं बरती गई तो गर्मी का प्रकोप लंबे समय तक रहेगा- मृत्युंजय महापात्रा

इस बीच, मौसम विभाग के प्रमुख मृत्युंजय महापात्रा ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा, “यह सबसे लंबी अवधि रही है, क्योंकि देश के कई इलाकों में करीब 24 दिनों तक बारिश हुई है।” उन्होंने आगे कहा कि इस महीने मानसून की बारिश के उत्तर की ओर बढ़ने से तापमान में गिरावट आने की उम्मीद है। हालांकि, इसके बाद स्थिति और खराब होगी। महापात्रा ने कहा कि अगर एहतियाती कदम नहीं उठाए गए तो गर्मी का प्रकोप लंबे समय तक रहेगा और तेज होगा।

जलवायु परिवर्तन से बहुत नुकसान हो रहा है – आईएमडी प्रमुख

आईएमडी प्रमुख ने कहा कि भारत दुनिया में ग्रीनहाउस गैसों का तीसरा सबसे बड़ा उत्सर्जक है, लेकिन उसने 2070 तक शुद्ध शून्य उत्सर्जन अर्थव्यवस्था हासिल करने की इच्छा व्यक्त की है, जो कि अधिकांश औद्योगिक पश्चिमी देशों की तुलना में दो दशक बाद है। वर्तमान में भारत बिजली उत्पादन के लिए काफी हद तक कोयले पर निर्भर है। उन्होंने कहा कि इस तरह हम न केवल खुद को बल्कि अपनी आने वाली पीढ़ियों को भी खतरे में डाल रहे हैं। एक वैज्ञानिक शोध से पता चलता है कि जलवायु परिवर्तन के कारण गर्मी की लहरें लंबी और मजबूत होती जा रही हैं।

चिलचिलाती गर्मी और लू से बचने के लिए अपनाएं ये 5 उपाय

1. खुद को हाइड्रेटेड रखें

भीषण गर्मी के दौरान लू के कारण डिहाइड्रेशन का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में समय-समय पर पानी पीते रहें ताकि शरीर हाइड्रेट रहे। इस गर्म मौसम में रोजाना कम से कम 8-10 गिलास पानी पीने की कोशिश करें। अपने खाने में भरपूर मात्रा में फल और सब्ज़ियाँ शामिल करें।

2. बाहर जाने से बचें

अगर आप लू से बचना चाहते हैं तो बिना किसी ज़रूरी काम के घर से बाहर निकलना बंद कर दें। घर के अंदर ही पंखा, कूलर, एसी लगाकर रहें। अगर घर में ये चीज़ें उपलब्ध नहीं हैं तो पर्दे बंद रखें। इससे आप लू के गंभीर खतरों से बच सकते हैं।

3. सूर्य की किरणों से बचने की कोशिश करें

जब भी लू लगे तो सीधे धूप में न निकलें। अगर आप किसी जरूरी काम से बाहर जा रहे हैं तो टोपी, तौलिया, चश्मा का इस्तेमाल करना न भूलें। इसके साथ ही हल्के रंग के ढीले कपड़े पहनें, ताकि आपकी त्वचा सुरक्षित रह सके।

4. अत्यधिक शारीरिक गतिविधि से बचें

अत्यधिक गर्मी और गर्म हवाओं के दौरान बहुत ज़्यादा शारीरिक गतिविधि करने से बचें। क्योंकि, गर्मियों में बहुत ज़्यादा कसरत करने से शरीर का तापमान बढ़ सकता है। इससे हीट स्ट्रोक का ख़तरा बढ़ सकता है।

5. खाली पेट बाहर जाने से बचें

अगर बाहर तेज़ गर्मी पड़ रही हो तो कभी भी खाली पेट घर से बाहर न निकलें, वरना इससे आपका शरीर कमज़ोर हो सकता है और आप लू की चपेट में आ सकते हैं। ऐसा करने से गर्मी और धूप की वजह से चक्कर आ सकते हैं। इसलिए जब भी घर से बाहर निकलें तो कुछ खाकर ही निकलें।

यह भी पढ़ें: मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह के काफिले पर उग्रवादियों ने घात लगाकर किया हमला, कई राउंड फायरिंग