वास्तविक मनोरंजन सोहैब चौधरी पाकिस्तानी युवक ने कहा कि भारत ने चार साल पहले टिकटॉक पर प्रतिबंध लगा दिया था, अब अमेरिका कर रहा है | भारत-पाकिस्तान: क्या पीएम मोदी के 4 साल पुराने फैसले के फैन हो गए पाकिस्तानी? बोलना

अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध: अमेरिका ने चीन पर आगामी चुनावों में दखल देने का आरोप लगाते हुए चीनी टिकटॉक ऐप को बंद करने का प्रस्ताव संसद में पेश किया है। इस बारे में पाकिस्तान के युवाओं ने जो कहा वह चौंकाने वाला है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के साल 2020 में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के फैसले को लेकर पाकिस्तानी युवक ने कहा कि आज अमेरिका भी भारत की राह पर चल रहा है. उन्होंने कहा कि जिस टिकटॉक को 4 साल पहले भारत ने बंद कर दिया था, उसे अब अमेरिका बंद कर रहा है.

पाकिस्तानी यूट्यूब चैनल रियल एंटरटेनमेंट पर एक पाकिस्तानी युवक ने कहा, पाकिस्तान और भारत की मानसिकता में बहुत अंतर है. भारत अगले 100 साल के बारे में सोच रहा है, वहीं पाकिस्तान अगले 10 साल के बारे में सोचने की बात करता है. एक अन्य युवा ने कहा, भारत आज आईटी का हब बन गया है, दुनिया की तमाम कंपनियां भारत में अपना मुख्यालय बना रही हैं. युवक ने कहा, अमेजन, ट्विटर, टेस्ला और माइक्रोसॉफ्ट समेत कई कंपनियां भारत में आ गई हैं.

टिकटॉक पर अमेरिका ने क्या कहा?
पाकिस्तानी युवक ने कहा, जब कोरोना आया तो चीन ने पूरी दुनिया में अपना सामान बेच दिया. अब भारत चीन का विकल्प बन रहा है, अगर कोरोना जैसा कुछ दोबारा आया तो दुनिया को चीन पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। पाकिस्तानी यूट्यूबर शोएब चौधरी ने कहा, ‘अमेरिका ने टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के लिए आधिकारिक तौर पर भारत का उदाहरण दिया है।’ अमेरिका ने कहा, जिस तरह भारत ने अपनी आंतरिक सुरक्षा के चलते पाकिस्तानी ऐप पर प्रतिबंध लगाया, उसी तरह सुरक्षा खतरे को देखते हुए अमेरिका में भी टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने की जरूरत है।

सोशल मीडिया जनता की आवाज
पाकिस्तानी युवक ने कहा कि भारत के पास टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के अपने वास्तविक कारण हैं, लेकिन पाकिस्तान में बिना किसी कारण के सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगाने की बात हो रही है। पाकिस्तानी युवक ने कहा, आज सोशल मीडिया पर बहुत सारे विज्ञापन चल रहे हैं. आज सोशल मीडिया बिजनेस बढ़ाने का एक बेहतरीन जरिया है। सोशल मीडिया के जरिए लोग अपनी आवाज दुनिया तक पहुंचा सकते हैं, ऐसे सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगाना ठीक नहीं है।

यह भी पढ़ें: India in UN: CAA और राम मंदिर को लेकर UN पहुंचा पाकिस्तान, भारत ने दिया ऐसा जवाब कि बोलती हो गई बंद!