विदेशी मुश्किलों में फिर मददगार बना भारत, बाढ़ प्रभावित केन्या के लिए राहत सामग्री की दूसरी खेप भेजी

छवि स्रोत: एपी
केन्या में बाढ़ का एक दृश्य.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत को विदेशों के संकट में सबसे बड़ा मददगार माना जा रहा है. विदेश में कहीं भूकंप हो, युद्ध हो, बाढ़ हो, सूखा हो या आग की स्थिति हो… हर स्थिति में भारत सबसे मददगार साबित हुआ है। भारत ने मंगलवार को बाढ़ प्रभावित केन्या के लिए राहत सामग्री की दूसरी खेप भेजी, जिसमें 40 टन दवाएं और अन्य आपूर्ति शामिल है। मानवीय सहायता एवं आपदा राहत (एचएडीआर) की यह खेप सेना के परिवहन विमान से अफ्रीकी देश भेजी गई।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर लिखा, ”एचएडीआर सामग्री की दूसरी खेप जिसमें 40 टन दवाएं, चिकित्सा आपूर्ति और अन्य उपकरण शामिल हैं, बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए केन्या के लिए रवाना हो गई है।” (हम) एक ऐतिहासिक साझेदारी के लिए खड़े हैं, विश्वबंधु दुनिया के लिए।” राहत सामग्री की पहली खेप पिछले हफ्ते केन्या भेजी गई थी। केन्या सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, विनाशकारी बाढ़ ने अफ्रीकी देश के कई हिस्सों को प्रभावित किया है और कम से कम 267 लोगों की मौत हो गई है।

तुर्की-सीरिया से लेकर नेपाल तक भारत ने संकट के समय मदद पहुंचाई।

पिछले वर्ष तुर्किए-सीरिया में आए विनाशकारी भूकंप में भी भारत ने जबरदस्त मदद की थी। भारत ने तुर्किये को अपनी सेना और चिकित्सा सहायता के साथ-साथ भोजन और रसद सामग्री भी भेजी थी। इसी तरह नेपाल में आए भूकंप के दौरान भी भारत सरकार ने राहत और मानवीय सहायता मुहैया कराई थी. इसके अलावा भारत रूस-यूक्रेन युद्ध और इजराइल-हमास युद्ध के पीड़ितों को मानवीय सहायता भी प्रदान कर रहा है। (भाषा)

ये भी पढ़ें

व्हाइट हाउस में गूंजा ‘सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा’, तो भारतीय अमेरिकियों ने कहा- एक बार और…

कौन हैं दुनिया के सबसे उम्रदराज़ नेता, जानें किस नंबर पर हैं बिडेन?

नवीनतम विश्व समाचार