विधवा महिला के खाते में आए 83 अरब रुपये, नहीं समझ पा रही थी पैसों का इस्तेमाल, अब करने जा रही है इस्तेमाल…

अमेरिका में एक विधवा बुजुर्ग महिला की खुशी का तब ठिकाना नहीं रहा जब उसे अपने दिवंगत पति द्वारा निवेश किए गए स्टॉक का रिटर्न मिला। 96 साल की रूथ गॉट्समैन को हाल ही में बर्कशायर हैथवे के स्टॉक से 1 अरब डॉलर यानी 82 अरब रुपये से ज्यादा मिले। महिला ने बताया कि वह पूरी रकम अल्बर्ट आइंस्टीन कॉलेज ऑफ मेडिसिन को दान करने जा रही है ताकि वहां पढ़ने वाले बच्चों की फीस माफ हो सके और वे चिंता मुक्त होकर पढ़ाई कर सकें।

गॉट्समैन ने द न्यूयॉर्क टाइम्स को बताया, ‘मुझे बताए बिना, उन्होंने (पति ने) बर्कशायर हैथवे स्टॉक का पूरा पोर्टफोलियो छोड़ दिया।’ इस पैसे के बारे में उनका एक ही निर्देश था कि जो तुम्हें ठीक लगे वही करो। गोट्समैन ने बताया कि वह तय नहीं कर पा रही थी कि इतनी बड़ी रकम का क्या किया जाए.

अल्बर्ट आइंस्टीन कॉलेज ऑफ मेडिसिन को दान
गॉट्समैन ने कहा कि बहुत सोचने और बच्चों की सलाह सुनने के बाद वह पूरी रकम न्यूयॉर्क के सबसे गरीब इलाके ब्रोंक्स के अल्बर्ट आइंस्टीन कॉलेज ऑफ मेडिसिन को दान कर देंगी. ज्ञात हो कि गोट्समैन इस कॉलेज की पूर्व प्रोफेसर रह चुकी हैं और वह वर्तमान में इस कॉलेज की निदेशक मंडल हैं।

रूथ गॉट्समैन-

खुद छात्रों को दी खुशखबरी
पिछले सोमवार को गॉट्समैन ने कॉलेज सभागार में छात्रों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने छात्रों के सामने कहा कि सबकी फीस माफ! सभागार में छात्र तालियाँ बजाने लगे और अपनी सीटों से कूदने लगे, कुछ रोने लगे। कॉलेज ने बच्चों का वीडियो भी शेयर किया है. गॉट्समैन ने टाइम्स को बताया, “मैं आइंस्टीन में छात्रों को फंड देना चाहता था ताकि उन्हें मुफ्त ट्यूशन मिल सके।”

खुश छात्र

आजीवन निःशुल्क शिक्षा
स्कूल ने कहा कि चौथे वर्ष के छात्रों की फीस माफ कर दी जाएगी. इस साल अगस्त से कॉलेज के सभी मौजूदा बैच के साथ-साथ आने वाले छात्र भी मुफ्त में पढ़ाई करेंगे। @EinsteinMed प्रोफेसर एमेरिटा डॉ. रूथ गॉट्समैन ने #MontefioreEinstein को एक परिवर्तनकारी उपहार दिया है। जो देश के किसी भी मेडिकल स्कूल के लिए बहुत बड़ी बात है. इससे यह सुनिश्चित होता है कि किसी भी छात्र को दोबारा ट्यूशन नहीं देना पड़ेगा।

टैग: अमेरिका समाचार, दान, वायरल खबर