वे बांग्लादेश को तोड़कर ईसाई देश बनाना चाहते हैं… शेख हसीना ने किस पर आरोप लगाया? उन्होंने कहा- एक श्वेत व्यक्ति…

हाइलाइट

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान दिल्ली में जो बिडेन से मुलाकात की। अब उन्होंने बिना किसी का नाम लिए अमेरिका पर अपने देश को तोड़ने का आरोप लगाया।शेख हसीना का दावा है कि बांग्लादेश-म्यांमार को ईसाई देश बनाने की साजिश चल रही है।

नई दिल्ली। अमेरिका का सीधे नाम लिए बिना बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने कुछ ऐसा कह दिया जिससे एशिया ही नहीं बल्कि विश्व राजनीति में भी हलचल मच गई। हसीना ने कहा कि बांग्लादेश को दो हिस्सों में बांटने की साजिश रची जा रही है ताकि एक नया ईसाई देश बनाया जा सके। शेख हसीना का कहना है कि बांग्लादेश और म्यांमार के हिस्सों को अलग करके पूर्वी तिमोर जैसा ईसाई देश बनाने की साजिश रची जा रही है। उन्होंने दावा किया कि अगर वह इस देश को बांग्लादेश में अपना एयरबेस बनाने देती हैं तो उन्हें जनवरी में फिर से चुनाव जीतने का आसानी से ऑफर दिया जा रहा है। हसीना ने उक्त देश का नाम नहीं बताया।

आवामी लीग की अध्यक्ष शेख हसीना ने एक बैठक में कहा कि पूर्वी तिमोर की तरह वे बांग्लादेश के चटगाँव और म्यांमार के कुछ हिस्सों को लेकर एक ईसाई देश बनाएंगे, जो बंगाल की खाड़ी में स्थित होगा। हसीना ने तब क्षेत्रीय स्थिरता को बाधित करने के किसी भी बाहरी प्रयास का विरोध करने की कसम खाई और कहा कि वह ऐसी साजिशों का मुकाबला करने के लिए दृढ़ हैं। इस संबंध में कोई और जानकारी दिए बिना उन्होंने बस इतना कहा, “यह प्रस्ताव एक श्वेत व्यक्ति की ओर से आया है।”

यह भी पढ़ें:- सौरभ भारद्वाज के OSD सस्पेंड…दिल्ली LG ने जारी किया आदेश, विवेक विहार हादसे से क्या है कनेक्शन?

यह देश बांग्लादेश में एयरबेस बनाना चाहता है…
शेख हसीना ने आगे कहा कि ऐसा लग सकता है कि यह सिर्फ़ एक देश पर केंद्रित है, लेकिन ऐसा नहीं है। मुझे पता है कि वे और कहाँ जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि और भी समस्याएँ होंगी, लेकिन उन्हें इसकी चिंता नहीं है। “अगर मैंने किसी देश को बांग्लादेश में एयरबेस बनाने की अनुमति दी होती, तो मुझे कोई समस्या नहीं होती।” हसीना ने विपक्षी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) पर चुनाव प्रक्रिया के ख़िलाफ़ साज़िश रचने का आरोप लगाया।

चीन ने इस कदम का स्वागत किया…
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने सीधे तौर पर किसी देश का नाम नहीं लिया, लेकिन मौजूदा अंतरराष्ट्रीय राजनीति को देखते हुए माना जा रहा है कि अमेरिका चीन का मुकाबला करने के लिए बांग्लादेश में एयरबेस खोलना चाहता है। अमेरिका उन चंद देशों में से एक है, जिसके कई देशों में एयरबेस हैं। चीन ने शेख हसीना द्वारा किसी दूसरे देश के एयरबेस बनाने के प्रस्ताव को ठुकराए जाने का स्वागत किया।

टैग: अमेरिका समाचार, बांग्लादेश समाचार, अंतरराष्ट्रीय समाचार, अमेरिकी समाचार, विश्व समाचार