वैज्ञानिकों ने 13 अरब साल पहले आकाशगंगा में तारों के पहले समूह की खोज की थी/वैज्ञानिकों ने 13 अरब साल पहले आकाशगंगा में तारों के पहले समूह की खोज की थी, बताई ये दिलचस्प बात

छवि स्रोत: एपी
आकाशगंगा.

नई दिल्ली: खगोलविदों ने हमारी आकाशगंगा में सबसे पुराने तारों के समूहों की खोज की है, उस समय के आसपास जब ब्रह्मांड की पहली आकाशगंगाओं का निर्माण शुरू हुआ था, यानी 12-13 अरब साल पहले। वैज्ञानिकों ने तारों के इस समूह का नाम ‘शक्ति’ और ‘शिव’ रखा है। यह जानकारी एक नए शोध से मिली है. खगोलविदों ने कहा कि शोध के निष्कर्षों से पता चलता है कि तारों के ये शुरुआती समूह आकार में आज के बड़े शहरों के समान थे। वैज्ञानिकों के अनुसार ऐसा माना जाता है कि आकाशगंगा का निर्माण छोटी आकाशगंगाओं के विलय से हुआ, जिससे तारों के बड़े समूहों के निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ।

उन्होंने कहा कि जब आकाशगंगाएँ टकराईं और विलीन हुईं, तो अधिकांश तारों में बहुत ही बुनियादी गुण बरकरार रहे और इसका सीधा संबंध उनकी मूल आकाशगंगा की गति और दिशा से है। ‘एस्ट्रोफिजिकल’ जर्नल में प्रकाशित इस अध्ययन रिपोर्ट में जर्मनी के मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर एस्ट्रोनॉमी की शोध टीम ने अपने विश्लेषण में पाया कि विलय करने वाली आकाशगंगाओं के तारे ऊर्जा और कोणीय वेग के दो विशेष बिंदुओं के आसपास एकत्रित थे। इस प्रकार तारों के दो अलग-अलग समूह बने- ‘शक्ति’ और ‘शिव’।

संरचनाओं को शक्ति और शिव के नाम दिये गये

अध्ययन की सह-लेखक ख्याति मल्हान ने इन दो संरचनाओं को ‘शक्ति’ और ‘शिव’ नाम दिया है। वैज्ञानिकों ने पाया कि समान तारे ‘शक्ति’ और ‘शिव’ बनाते हैं और दो अलग-अलग आकाशगंगाओं से आते हैं। इनका कोणीय संवेग आकाशगंगा के मध्य में स्थित तारों से अधिक होता है। उन्होंने कहा कि इन सभी तारों में धातु की मात्रा कम है, जिससे पता चलता है कि इनका निर्माण बहुत समय पहले हुआ होगा, जबकि हाल ही में बने तारों में भारी धातु तत्व अधिक हैं। अध्ययन के सह-लेखक हंस-वाल्टर रिक्स का कहना है कि ‘शक्ति’ और ‘शिव’ आकाशगंगा के केंद्र में शामिल होने वाले तारों के पहले दो समूह हो सकते हैं। खगोलविदों ने अपने विश्लेषण के लिए यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के एक उपग्रह द्वारा उपलब्ध कराए गए डेटा का उपयोग किया।(भाषा)

ये भी पढ़ें

धरती पर भूटान में एक ऐसी जगह है, जहां आज तक इंसान के कदम नहीं पहुंचे हैं।

दुनिया में एक ऐसी बीमारी सामने आई है जो खूबसूरत लोगों के चेहरों को हैवानों में बदल रही है।

नवीनतम विश्व समाचार