सरकार इन पाकिस्तानियों को रमजान के दौरान रोजा रखने की इजाजत नहीं देगी, आदेश जारी/इन पाकिस्तानियों को रमजान के दौरान रोजा रखने की इजाजत नहीं देगी सरकार, जानिए क्यों जारी किया गया ऐसा आदेश

छवि स्रोत: एपी
नमाज अदा करते पाकिस्तानी.

कराची: इस बार पाकिस्तान सरकार सभी लोगों को रमजान में रोजा रखने की इजाजत नहीं देगी. इसके लिए पाकिस्तान सरकार की ओर से पहले ही आदेश जारी कर दिया गया है. पाकिस्तान के राष्ट्रीय वाहक पीआईए ने अपने पायलटों और चालक दल के सदस्यों से रमजान के महीने के दौरान ड्यूटी के दौरान उपवास नहीं करने को कहा है। पीआईए ने मेडिकल सलाह का हवाला देते हुए कहा है कि रोजा (उपवास) रखने से व्यक्ति को डिहाइड्रेशन, आलस्य और नींद की समस्या का सामना करना पड़ता है.

कॉर्पोरेट सुरक्षा प्रबंधन और क्रू मेडिकल सेंटर दोनों ने सिफारिश की है कि पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के पायलटों और चालक दल के सदस्यों को उड़ान के दौरान उपवास नहीं करना चाहिए। पीआईए के एक अधिकारी ने कहा, “इन सिफारिशों के आधार पर, पीआईए के शीर्ष प्रबंधन ने पायलट और चालक दल के सदस्यों को तत्काल प्रभाव से अनुपालन आदेश जारी किए हैं।” कहा गया है कि जब वे अंतरराष्ट्रीय या घरेलू उड़ानों में ड्यूटी पर हों तो उन्हें रोजा नहीं रखना चाहिए.

इसी वजह से निर्देश जारी किए गए हैं

मई 2020 में कराची हवाई अड्डे के पास एक आवासीय सोसायटी के भीड़-भाड़ वाले इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान की दुर्घटना पर विमान जांच बोर्ड की एक टीम ने पिछले महीने अपने निष्कर्ष जारी किए थे। बोर्ड ने इस दुर्घटना के लिए मानवीय त्रुटियों को जिम्मेदार ठहराया है। रिपोर्ट में पायलटों को ड्यूटी के दौरान रमज़ान के महीने में रोज़ा रखना चाहिए या नहीं, इस बारे में स्पष्ट नियम न होने के लिए भी पीआईए और नागरिक उड्डयन प्राधिकरण को ज़िम्मेदार ठहराया गया। (भाषा)

ये भी पढ़ें

कैसे ALH-ध्रुव हेलीकॉप्टर बना भारतीय सेना की शान, जानें क्या है इसकी खासियत

नवीनतम विश्व समाचार