हमारा विकास देख घबराया पाकिस्तान, कहा- भारत चांद पर जा रहा है और हमारे बच्चे गटर में, पहली बार बताई हकीकत

पर प्रकाश डाला गया

आज दुनिया की शीर्ष 30 कंपनियों में से 25 के सीईओ भारतीय नागरिक हैं। सरकार को आपातकाल की तरह बुनियादी सुविधाएं मुहैया करानी चाहिए। कराची में 15 साल से शुद्ध पीने का पानी नहीं है.

नई दिल्ली। भारत के विकास को देखकर पड़ोसी पाकिस्तान के दिल में दर्द हो रहा है. प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री के बयान के बाद अब कराची के सांसद और मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट पाकिस्तान पार्टी के नेता सैयद मुस्तफा कमाल ने भी भारत के विकास की दिल खोलकर तारीफ की है. उन्होंने कहा कि एक तरफ भारत विकास के नए आयाम गढ़ रहा है, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान अपनी ही चुनौतियों से जूझ रहा है. सांसद ने कहा कि पाकिस्तान के लोग भुखमरी के शिकार हैं और भारत में 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज बांटा जा रहा है.

कमाल ने कराची का उदाहरण देते हुए कहा कि यहां हालात ऐसे हैं कि कई सालों से लोगों को पीने के लिए शुद्ध पानी तक नहीं मिल रहा है. जबकि दुनिया चाँद पर जा रही है, हमारे बच्चे गटर में गिर रहे हैं। उन्होंने भारत के चंद्रयान 3 मिशन का हवाला देते हुए कहा कि हम विकास में कितने पीछे हैं और तकनीक के मामले में भारत कितना आगे बढ़ रहा है.

ये भी पढ़ें- क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के लिए अच्छी खबर! सबसे बड़ी धोखाधड़ी के शिकार लोगों को ब्याज समेत उनका पैसा वापस मिलेगा.

भारत 30 साल से तैयारी कर रहा है
पाकिस्तानी सांसद ने कहा कि 30 साल पहले पड़ोसी देश भारत ने अपने बच्चों को वही चीजें सिखाना शुरू किया था जिनकी आज दुनिया में मांग है. यही कारण है कि आज भारतीय दुनिया भर की कंपनियों में अग्रणी हैं। आज दुनिया की शीर्ष 30 कंपनियों में से 25 के सीईओ भारतीय नागरिक हैं। कमल ने कहा, हमारी सरकार को आपातकाल की तरह जरूरी और बुनियादी सुविधाओं के विकास पर भी जोर देना चाहिए. इस बारे में जब पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी से बात की गई तो उनकी प्रतिक्रिया सकारात्मक रही.

15 साल से शुद्ध पानी तक नहीं
कराची के सांसद ने कहा कि यह शहर देश की आर्थिक ताकत बन सकता है, लेकिन यहां बुनियादी सुविधाएं हमेशा हाशिए पर रही हैं। पिछले 15 सालों से इस शहर में शुद्ध पानी की एक बूंद भी नहीं मिली है. लोग बुनियादी सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं. ब्रिटेन से पढ़ाई करके लौटे मुस्तफा कराची के मेयर भी रह चुके हैं.

2.5 करोड़ बच्चे स्कूल नहीं जाते
कराची के सांसद ने कहा, भारत में शिक्षा को लेकर नई नीतियां लागू की जा रही हैं और हमारे देश में 2.62 करोड़ बच्चे स्कूल भी नहीं जाते हैं. जाहिर है, अगर लाखों बच्चे अशिक्षित रहेंगे तो वे देश की अर्थव्यवस्था में क्या योगदान देंगे। सांसद का वीडियो वायरल होने पर लोगों की खूब प्रतिक्रिया आ रही है. एक यूजर ने लिखा, आपको सलाम. इतनी हिम्मत से सच उजागर करने के लिए धन्यवाद.

टैग: बिजनेस समाचार हिंदी में, अर्थशास्त्र, जीडीपी बढ़त, पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था