हरिद्वार: मनसा देवी मंदिर तक जाने वाला रोपवे बंद, श्रद्धालु पैदल पहाड़ी चढ़ने को मजबूर, सवाल- कब शुरू होगी?

पुलकित शुक्ला

हरिद्वार। उत्तराखंड के हरिद्वार में मनसा देवी मंदिर रोपवे बंद कर दिया गया है. 31 दिसंबर को लीज खत्म होने के कारण रोपवे बंद है। इसके चलते श्रद्धालुओं के पास पैदल ही मंदिर तक जाने का विकल्प बच गया है। प्रतिदिन 2 से 2.5 हजार लोग रोपवे के माध्यम से मंदिर के दर्शन करते हैं। प्रशासन रोपवे कंपनी उषा ब्रेको की लीज बढ़ाने पर विचार कर रहा है। गौरतलब है कि उषा ब्रैको नाम की कंपनी मनसा देवी मंदिर रोपवे का संचालन करती है. 2021 में कंपनी की लीज खत्म होने के बाद लीज को ढाई साल के लिए बढ़ा दिया गया था. यह विस्तार 31 दिसंबर को समाप्त हो गया.

आपको बता दें कि मां मनसा देवी मंदिर और चंडी देवी मंदिर के दर्शन के लिए रोपवे संचालित है। इस रोपवे के जरिए लोग आसानी से मंदिरों में दर्शन के लिए जा सकते हैं। विशेषकर महिलाओं, बच्चों, विकलांगों और बुजुर्गों के लिए रोपवे के माध्यम से मंदिरों तक पहुंचना बहुत आसान था।

अनुबंध 31 दिसंबर को पूरा हो गया

जानकारी के मुताबिक, मनसा देवी मंदिर के लिए चलने वाले रोपवे से रोजाना 2 हजार से ज्यादा श्रद्धालु यात्रा करते हैं. इतना ही नहीं यहां एक सीजन में 8 हजार तक यात्री आते हैं। सरकार ने रोपवे संचालन का अनुबंध 31 दिसंबर 2023 तक बढ़ा दिया था, जो रविवार को पूरा हो गया। अब नए साल में रोपवे से मनसा देवी मंदिर जाने वाले यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: पॉप सिंगर दुआ लीपा ने राजस्थान की पिंक सिटी में मनाया नया साल, तस्वीरें शेयर कर लिखा- मैं बहुत लकी महसूस कर रही हूं…

मनसा देवी मंदिर पर चलने वाले रोपवे की लीज मई 2021 में खत्म हो गई थी, लेकिन श्रद्धालुओं की सुविधाओं को देखते हुए सरकार ने रोपवे का संचालन 31 दिसंबर 2023 तक बढ़ा दिया था.

टैग: हरिद्वार, उत्तराखंड समाचार