हिमाचल राजनीति: इस्तीफे से चंद घंटे पहले निर्दलीय विधायक केएल ठाकुर पर FIR, आचार संहिता के बीच किया था पुल का उद्घाटन

नालागढ़हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के नालागढ़ से निर्दलीय विधायक केएल ठाकुर पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगा है। सोमवार को विधानसभा द्वारा उनके इस्तीफे को स्वीकार किए जाने से एक दिन पहले पुलिस ने विधायक के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है।

जानकारी के अनुसार पूरा मामला नालागढ़-स्वारघाट मार्ग पर महादेव खड्ड पर बने पुल का है जिसे हाल ही में मरम्मत के बाद वाहनों की आवाजाही के लिए खोला गया था। 30 मई को विधायक ने रिबन काटकर पुल का उद्घाटन किया था। विधायक ने इसका वीडियो भी अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर किया था। विधायक ने न तो चुनाव आयोग से अनुमति ली और न ही स्थानीय प्रशासन को इसकी जानकारी दी। अब पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। बता दें कि महादेव खड्ड पर बने पुल को 21 अप्रैल 2024 को एक पिलर में दरारें आने के बाद यातायात के लिए बंद कर दिया गया था।

नालागढ़ की डीएसपी गीतांजलि ठाकुर ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि विधायक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है। आपको बता दें कि नालागढ़ के विधायक कृष्ण लाल ठाकुर को चुनाव आयोग ने आचार संहिता के उल्लंघन के लिए नोटिस भी भेजा था।

केएल ठाकुर कौन हैं?

बता दें कि 2022 के विधानसभा चुनाव में केएल ठाकुर ने नालागढ़ से निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। ​​इसके बाद 2024 में राज्यसभा चुनाव के बाद हिमाचल में राजनीतिक उथल-पुथल मच गई और फिर 22 मार्च को निर्दलीय विधायक केएल ठाकुर ने अपनी विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। 23 मार्च को वे भाजपा में शामिल हो गए। हालांकि अब 3 जून को विधानसभा अध्यक्ष ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

टैग: हिमाचल विधानसभा चुनाव, हिमाचल सरकार, लोकसभा चुनाव 2024, लोकसभा चुनाव, शिमला समाचार आज