2 कारों में आए 6 हमलावर और फिर… कैसे हुई खालिस्तानी आतंकी निज्जर की हत्या? वीडियो फुटेज सामने आया

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर भारत और कनाडा के बीच अब भी तनाव बरकरार है. इस बीच इस हत्याकांड का एक कथित वीडियो फुटेज सामने आया है, जिसमें कुछ हथियारबंद लोग इस खालिस्तानी अलगाववादी पर गोलियां बरसाते नजर आ रहे हैं.

निज्जर को साल 2020 में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने आतंकवादी घोषित किया था। 18 जून, 2023 की शाम को ब्रिटिश कोलंबिया के सरे में एक गुरुद्वारे से बाहर निकलते ही उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

6 हमलावर 2 कारों में आए थे
फुटेज प्रसारित करने वाले कनाडाई समाचार चैनल सीबीसी न्यूज ने कहा कि वीडियो द फिफ्थ एस्टेट द्वारा प्राप्त किया गया था और कई स्रोतों द्वारा स्वतंत्र रूप से सत्यापित किया गया था। इस हमले को ‘अत्यधिक समन्वित’ बताया गया है, जिसे 2 गाड़ियों में आए 6 लोगों ने अंजाम दिया.

वीडियो में निज्जर को अपने ग्रे डॉज राम पिकअप ट्रक में गुरुद्वारा पार्किंग स्थल से निकलते हुए दिखाया गया है। जैसे ही वह निकास द्वार के पास पहुंचा, एक सफेद सेडान उसके सामने रुकी, जिससे उसका ट्रक रुक गया। सीबीसी न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, इसके बाद दो लोग दौड़कर निज्जर को गोलियों से भून देते हैं और टोयोटा कैमरी में बैठकर भाग जाते हैं.

यह भी पढ़ें- भारत ने LAC पर उठाया ऐसा कदम, चीन की बढ़ी टेंशन, लगा रहा है शांति की दुहाई

सीबीसी के अनुसार, घटना के समय पास के मैदान में फुटबॉल खेल रहे दो गवाहों ने खुलासा किया कि गोलियों की आवाज सुनकर वे इलाके की ओर भागे और हमलावरों का पीछा करने की भी कोशिश की। एक प्रत्यक्षदर्शी भूपिंदरजीत सिंह सिद्धू ने द फिफ्थ एस्टेट को बताया, ‘हमने उन दो लोगों को भागते हुए देखा। हम उस ओर भागने लगे जिधर से आवाज आ रही थी।

ये भी पढ़ें- ‘अकेले लड़ेंगे चुनाव…’ ओडिशा में BJD से गठबंधन पर कहां फंसा मामला, बीजेपी के साथ बैठक में क्या हुई बात?

सिद्धू के मुताबिक, वह निज्जर की मदद में जुट गए और अपने दोस्त मलकीत सिंह से पैदल जा रहे दो लोगों का पीछा करने को कहा. “वह पूरी तरह से बेहोश था,” उसने कहा। उसकी सांस नहीं चल रही थी.

गुरु नानक सिख गुरुद्वारा के अध्यक्ष की इस लक्षित हत्या को लेकर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने आरोप लगाया था कि निज्जर की हत्या में भारत सरकार का हाथ था. भारत ने ट्रूडो के दावे का खंडन किया और उसके बाद से दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों में गिरावट आई।

टैग: कनाडा समाचार, खालिस्तानी आतंकवादी