Israel-Hamas War Live: राफा में इजरायल का खूनी खेल, टेंट कैंप पर बमबारी में महिलाओं समेत 21 की मौत, दो हिस्सों में बंटा यूरोप – Israel Hamas Gaza war live udates टेंट सिटी पर राफा में हमला, 21 मरे, स्पेन आयरलैंड नॉर्वे ने फिलिस्तीन को औपचारिक रूप से मान्यता दी

टेल अवीव। विश्व समुदाय की अपील और अमेरिकी दबाव को नजरअंदाज करते हुए इजरायल ने राफा में हमले और तेज कर दिए हैं। तेल अवीव का आरोप है कि हमास के लड़ाके यहीं से हमले कर रहे हैं। इजरायली हवाई हमले में 45 लोगों की मौत के बाद एक बार फिर पश्चिमी राफा में स्थित टेंट कैंप पर बड़ा हमला किया गया है। इजरायली सैनिकों की बमबारी में 21 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में 13 महिलाएं और लड़कियां शामिल हैं। राफा के इस इलाके में विस्थापित लोग टेंट में रहने को मजबूर हैं, लेकिन अब उन्हें भी निशाना बनाया जा रहा है। दूसरी ओर, राफा में इजरायली हमले के मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुलाई गई है। दूसरी ओर, फिलिस्तीन को अलग देश का दर्जा देने के मुद्दे पर यूरोप बंटा हुआ है। स्पेन, आयरलैंड और नॉर्वे ने औपचारिक रूप से फिलिस्तीन को अलग देश के रूप में मान्यता देने की घोषणा की है

रहना: गाजा में चल रही भीषण लड़ाई का खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय की ओर से भेजी जा रही राहत सामग्री बहुत कम साबित हो रही है। सशस्त्र संघर्ष के कारण रसद की आपूर्ति बुरी तरह प्रभावित हुई है। संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि गाजा में हर दिन 500 ट्रक मानवीय सहायता की जरूरत है, जबकि करीब 170 ट्रक ही पहुंच पा रहे हैं। यह अपर्याप्त साबित हो रहा है। ऐसे में मानवीय त्रासदी और भी भयानक रूप ले सकती है।

रहना: इजराइल ने मई की शुरुआत में राफा में सैन्य अभियान शुरू किया था। हवाई हमले के साथ-साथ इजराइली सेना टैंकों के साथ दक्षिणी गाजा के राफा में घुसी। तेल अवीव का आरोप है कि हमास के लड़ाके यहीं छिपे हुए हैं और इजराइल पर हमला कर रहे हैं। इजराइली सैन्य अभियान शुरू होने के बाद से राफा से 10 लाख लोग भाग चुके हैं। इनमें से ज़्यादातर वे हैं जिन्होंने गाजा पट्टी के दूसरे इलाकों में बमबारी के बाद यहां शरण ली थी। ये लोग कई बार विस्थापित हो चुके हैं।

रहना: इजरायली हमले के बाद गाजा पट्टी श्मशान जैसी दिखने लगी है। इस सशस्त्र संघर्ष में अब तक 36,096 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 81,136 लोग घायल हैं। इनमें से कई गंभीर रूप से घायल हैं और कई स्थायी विकलांगता के शिकार हो गए हैं। हमास ने 7 अक्टूबर 2023 को इजरायल में घुसकर करीब 1200 लोगों की हत्या कर दी थी और दर्जनों लोगों को बंधक बना लिया था। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने बंधकों को रिहा करने का वादा करते हुए हमास के खिलाफ युद्ध की घोषणा की थी। महीनों बीत जाने के बाद भी इजरायल अभी तक बंधकों को रिहा नहीं कर पाया है।

टैग: हमास का इजरायल पर हमला, अंतरराष्ट्रीय समाचार, इजराइल समाचार